रतलाम जिले की पुलिस ने किया लाखो की चोरी का खुलासा, जानिए क्या है पूरा मामला…..

0

रतलाम,29 दिसम्बर/ पुलिस ने जिले के सैलाना थाना अंतर्गत बीते चार दिन पहले हुई चोरी की वारदात खुलासा कर दिया है। मामले पुलिस ने चोरी हुए माल को बरामत कर 3 आरोपियों को गिरफ़्तार किया है। वही वारदात में शामिल 2 आरोपी फ़रार बताये जा रहे है।

जानकारी के अनुसार जिले के सैलाना थाना क्षेत्र में 24-25 दिसम्बर की मध्य रात्री में डॉ.दिपक जोशी के मकान मे अज्ञात बदमाशो द्वारा ताले तोड़कर डॉ.जोशी के बेडरुम मे रखी अलमारीयो से नगदी आठ लाख रुपये व सोने की एक चैन ,सोने की एक अंगुठी,सोने का एक लाकेट व चांदी के पांच सिक्के चुराकर ले गये थे। उक्त मामले में सैलाना पुलिस ने फरियादी की रिपोर्ट पर से अज्ञात आरोपीयो के विरुध्द धारा 457,380 तहत मामला दर्ज कर कार्यवाही प्रारंभ कर दी थी।

जिले में इतनी बड़ी चोरी की घटना को देखते हुए अज्ञात आरोपीयो की तलाश के लिए थाना प्रभारी निरी.दलसिह परमार के नेतृत्व मे टीम का गठन किया गया। टीम द्वारा घटनास्थल के आसपास के कैमरो की छानबिन, डॉ.दिपक जोशी के क्लिनिक पर काम करने वाले कर्मचारीयो से पुछताछ की गई ।

पुछताछ के दौरान पुलिस को महत्वपूर्ण सुराग मिला। पुलिस को आदेश उर्फ छोटू पिता छगन  निवासी खानपुरा थाना दानपुर जिला बासवाड़ा पर शक हुआ। पुलिस के अनुसार छोटू बचपन से डॉ.दिपक जोशी के घर पर काम करता था और घर मे हर जगह आता जाता था जिसे करीब 03 माह पुर्व डॉ.दिपक जोशी व उनके परिवार वालो ने काम से निकाल दिया था पुलिस ने संदेह होने पर आरोपी छोटू की निरंतर तलाश शुरू कर दी।

पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर 29 दिसम्बर सोमवार को आदेश उर्फ छोटू गिरफ्तार कर लिया। पुलिस द्वारा पुछताछ करने पर छोटू ने बताया कि डॉ दिपक जोशी ने मुझे काम से निकाल दिया था तभी से मै दिपक जोशी के घर चोरी करने की फिराक मे था । जब 24.दिसम्बर को अपनी गा़ड़ी की किश्त जमा कराने के लिए सैलाना मे डाक्टर साहब के घर के पास शो रुम पर आया तो उसे पता चला की डॉ.दिपक जोशी अपना आपरेशन कराने के लिए परिवार सहित इंदौर गये है। तभी छोटू ने अपने गांव के दोस्त अनिल निनामा पिता मनोहर निनामा नि.खानपुरा व ईश्वर पिता धारिया निनामा नि.खानपुरा और उसके गांव के जमाई परमेश को फोन करके चोरी करने के लिए सैलाना बुलाया ।

आरोपी छोटू ने पुलिस को बताया कि रात मे करीब 12.00 बजे सैलाना मे सब्जी मण्डी के पास परमेश अपनी बाइक पर उसके दोस्त सुनिल अनिल और ईश्वर को बिठाकर लाया। जहा से सभी ने प्लानिंग की और डॉ.दिपक जोशी को मकान के पीछे रखी लकड़ियों पर चढकर मकान के अंदर घुस गये और दूसरी मंजिल के ताले तोड़कर डॉ.जोशी के बेडरुम मे रखी अलमारीयो से नगदी आठ लाख रुपये व सोने की एक चैन ,सोने की एक अंगुठी,सोने का एक लाकेट व चांदी के पांच सिक्के चुराकर अपनी अपनी मो.सा. से गांव खानपुरा चले गये थे । जहां आरोपीयो मे चोरी गये रुपये व सामान को आपस मे बाट लिया था ।

मामले में सैलाना पुलिस द्वारा आदेश उर्फ छोटू को गिरफ्तार कर चोरी गये मश्रुका व आदेश के अन्य साथियो की तलाश मे खानपुरा थाना दानपुर जिला बासवाड़ा मे दबिश दी और आदेश से उसके घर मे छुपाकर रखे दो लाख चालीस हजार रुपये , सोने की एक चैन व चांदी का एक सिक्का जप्त किया।

वही पुलिस ने आदेश की निशानदेही पर चोरी में शामिल दोस्त अनिल व ईश्वर को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को आरोपी ईश्वर के कब्जे से दो लाख तीस हजार रुपये,सोने की एक अंगुठी, चांदी का एक सिक्का और अनिल के कब्जे से दो लाख तीस हजार रुपये ,सोने का एक लाकेट व चांदी का एक सिक्का कुल सात लाख रुपये , सोने की एक चैन ,सोने की एक अंगुठी,सोने का एक लाकेट व चांदी के पांच सिक्के कुल किमती आठ लाख रुपये के जप्त किये गये।

पुलिस के अनुसार घटना में शामिल परमेश पिता रकमा चरपोटा नि.ग्राम झरी,थाना भुगड़ा ,बासवाड़ा (राजस्थान)तथा परमेश का दोस्त सुनिल नि.ग्राम झरी,थाना भुगड़ा,बासवाड़ा (राजस्थान) फ़रार है। पुलिस दोनों आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।

आरोपियों से जब्त नगदी और गहने

पुलिस ने गिरफ्तार तीनो आरोपियों से कुल सात लाख रुपये नगदी,सोने की एक चैन,सोने की एक अंगुठी,सोने का एक लाकेट व चांदी के पांच सिक्के कुल किमती आठ लाख रुपये बरामद किये है।

गठीत टीम की महत्वपूर्ण भूमिका

अज्ञात आरोपीयो को गिरफ्तार करने मे निरी.दलसिह परमार, उनि मनोज पाटीदार , उनि ध्यानसिह सोलकी , उनि लालजी परमार , उनि निर्भयसिह भुरिया , उनि राजश्री सिसोदिया , प्र.आऱ.385 लक्ष्मीनारायण , प्र.आऱ.410 मुकुटसिह , आर.804 माखनसिह , आर.416 दिलीप रावत ,आर.सतीश परमार,आर.538 अनिल मर्स्कोले म.आऱ. 541 टीना शर्मा की महत्वपूर्ण भूमिका रही ।