रतलाम एवं मंदसौर में कोविड-पेशेंट की उपचार सुविधाओं को लेकर प्रभारी मंत्री देवड़ा ने मुख्यमंत्री से की चर्चा

0

ऑक्सीजन, रेमडीसिविर, दवाइयों की उपलब्धता को और बढ़ाने का आग्रह

 रतलाम 22 अप्रैल 2021/ प्रदेश के वित्त मंत्री एवं रतलाम जिला कोविड प्रभारी मंत्री जगदीश देवड़ा ने कोविड-पेशेंट के उपचार के लिए रतलाम एवं मंदसौर जिलो में आवश्यक सुविधाओं में वृद्धि करने का आग्रह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से दूरभाष पर चर्चा कर किया है। उन्होंने आवश्यक दवाइयों, रेमडेसीविर इंजेक्शन तथा ऑक्सीजन की व्यवस्था में वृद्धि को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से निवेदन किया है कि इन आवश्यकताओं की पूर्ति शीघ्र की जाए । उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर जनप्रतिनिधियों के सहयोग से ऑक्सीजन एवं अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं जिसके माध्यम से मरीजों को लाभ भी हो रहा है।

देवड़ा ने कहा कि यह संकट का समय है। रतलाम मेडिकल कॉलेज पर काफी दबाव है । यहां पर सभी व्यवस्थाएं की जा रही है किंतु मरीजों की अधिकता के कारण व्यवस्थाओं में निरंतर वृद्धि करना पड़ रही है। मुख्यमंत्री से चर्चा में देवड़ा ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद भी ज्ञापित किया कि मुख्यमंत्री द्वारा रतलाम मंदसौर जिलों के लिए हर संभव मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं उन्होंने मुख्यमंत्रीजी से आग्रह किया कि ऑक्सीजन, रेमडीसिविर इंजेक्शन एवं आवश्यक दवाइयों  की व्यवस्था को लेकर और अधिक उपाय किए जाए।

देवड़ा ने एसीएस हेल्थ मोहम्मद सुलेमान को दूरभाष पर निर्देशित भी किया कि रतलाम- मंदसौर जिलों के  अस्पतालों के लिए कलेक्टर की मानीटरिंग में  रेमडीसिविर इजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाना है, इसके लिए प्राइवेट मेडिकल स्टोर्स द्वारा इंजेक्शन की जो  मांग की गई है उसकी आपूर्ति शीघ्र की जाए ,ताकि नागरिकों को इंजेक्शन के लिए परेशानी न हो। साथ ही कलेक्टर्स को भी निर्देशित किया है कि मेडिकल स्टोर्स मैं उपलब्धता पर अस्पतालों को रेमदेसीविर इंजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए

रतलाम नगरीय क्षेत्र में पर्याप्त सैनिटाइजिंग के लिए मंत्री देवड़ा ने नगर निगम आयुक्त सोमनाथ झारिया को निर्देश दिए हैं । उन्होंने कहा है कि नगर निगम द्वारा शहर में पर्याप्त साफ सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । प्रतिदिन विभिन्न क्षेत्रों में सैनिटाइजिंग का कार्य किया जाए। जो क्षेत्र स्वास्थ्य की दृष्टि से अधिक संवेदनशील है उन क्षेत्रों में पर्याप्त सफाई व्यवस्था की जाए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here